Header Ads Widget

Responsive Advertisement

तारक मेहता का उल्टा चश्मा, जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने के विवाद में बबिताजी उर्फ मुनमुन को मिली राहत, सुप्रीम कोर्ट ने 5 FIR पर लगाईं रोक

 

 तारक मेहता का उल्टा चश्मा, जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने के विवाद में बबिताजी उर्फ मुनमुन को मिली राहत, सुप्रीम कोर्ट ने 5 FIR पर लगाई रोक 



कोर्ट ने मुनमुन के वकील पर पड़ी फटकार-
खबरों के मुताबिक एक्ट्रेस के खिलाफ धारा (1) (U) अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत पांचों FIR हुई थीं जो की रिपोर्ट्स के मुताबिक, जस्टिस हेमंत गुप्ता और वी रामा सुब्रमण्यम ने पांचों FIR को कंसोल करते हुए मुनमुन को नोटिस जारी किया था और  सुनवाई के दैरान एक्ट्रेस के वकील पुनीत बाली ने दावा किया कि उन्होंने वीडियो में जिस शब्द का इस्तेमाल किया था।  उन्हें उसके असली मतलब का पता नहीं था। इस दौरान कोर्ट ने वकील को लगा दी फटकार और कहा कि उनका दावा सही नहीं हो सकता, क्योंकि यह शब्द बांग्ला में भी इस्तेमाल होता है। 


'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में बबिताजी का किरदार निभाने वाली मुनमुन दत्ता को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली। कोर्ट ने उनके खिलाफ दर्ज हुईं 5 FIR पर रोक लगा दी है जबकि रिपोर्ट्स के मुताबिक एक्ट्रेस के खिलाफ ये FIR राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र में दर्ज की गई थीं और उन पर अपने एक मेकअप वीडियो में जातिसूचक शब्दका इस्तेमाल करने का भीआरोप है।


क्या है मुनमुन का विवाद जाने सच 
आपको बताते चले की मुनमुन दत्ता ने पिछले महीने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया था। इसमें वे मेकअप के बारे में बता रही थीं अब क्योकि मुनमुन ने वीडियो में कहा था, ‘मैं यूट्यूब पर आने वाली हूं। मैं अच्‍छा दिखना चाहती हूं। मैं किसी की तरह नहीं दिखना चाहती।' इसी वीडियो में उन्होंने दलित जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया था बस विवाद बढ़ने के बाद एक्ट्रेस ने वीडियो सोशल मीडिया से हटा लिया और सार्वजनिक तौर पर माफी भी मांगी थी। 

गलती मानी, केस ट्रांसफर करने की अपील की
बाद में पुनीत बाली ने एक्ट्रेस की गलती मानी और कोर्ट में हवाला दिया कि उन्होंने दो घंटे के अंदर विवादित पोस्ट डिलीट कर दी थी और इसके लिए माफ़ी भी मांग ली थी। इसके साथ ही उन्होंने कोर्ट से अनुरोध किया कि एक्ट्रेस के खिलाफ दर्ज सभी केसों को मुंबई ट्रांसफर कर दिया जाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ