Header Ads Widget

Responsive Advertisement

कैनन के इस कैमरे के सामने मुस्कुराने पर ही ऑफिस में मिलेगी एंट्री, कंपनी का दावा- 100% कर्मचारी खुश रहेंगे जानिए कैसे

 

कैनन के इस कैमरे के सामने मुस्कुराने पर ही ऑफिस में मिलेगी एंट्री, कंपनी का दावा- 100% कर्मचारी खुश रहेंगे जानिए कैसे 



कंपनी नए एक्सपेरिमेंट करने में माहिर कैसे 
आपको बता दे की कैमरा बनाने वाली कंपनी कैनन हमेशा ही इनोवेटिव प्रोडक्ट्स बनाती रहती है और कंपनी फ्यूचर टेक्नोलॉजी के लिए भी कई पेटेंट्स करा चुकी है जबकि इस बार कंपनी ने ऐसा कैमरा डिजाइन किया है जो ऑफिस कर्मचारियों की स्माइल को ट्रैक करेगा। कैमरा से इस बात का भी पता चलेगा कि कौन सा कर्मचारी कितना खुश है।


जैसा की आप लोग जानते ही हो कोविड-19 महामारी की वजह से दुनियाभर के लोग डरे हुए हैं। इसका तनाव भी उनके चेहरे पर साफ दिखाई दे जाता है। लोगों के चेहरे से इसी तनाव को दूर करने के लिए चीनी कंपनी कैनन ने AI (अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) बनाई है और कंपनी का दावा है कि ये AI टेक्नोलॉजी लोगों के चेहरे पर खुशी बिखेर देगी।

कंपनी ने अपने ऑफिस में लगाया कौनसा कैमरा जाने 
आपको बता दे की कैनन ने लोगों को खुश करने वाले कैमरा की शुरुआत अपने ही ऑफिस से की है। कंपनी का कहना है कि इसमें स्माइल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। ये कर्मचारियों के स्माइली फेस को पहचान लेगी और इसके बाद ही उन्हें ऑफिस के अंदर आने देगी और इसके साथ ही कंपनी का मानना ये भी है कि इससे कर्मचारियों को 100% तक खुश रख सकते हैं। जो लोग तनाव में हैं उनकी भी खुशी वापस लाई जा सकती है।

आपकी जानकारी के लिए आपको बताते चले की चीनी कंपनियां इस AI टेक्नोलॉजी की मदद से अपने कर्मचारियों पर नजर रख रही हैं और फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी CCTV कैमरों से ये भी देखेगी कि कौन सा कर्मचारी लंच ब्रेक के लिए कितना समय ले रहा है और कुछ रिपोर्ट्स का दावा यह भी है कि स्माइल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी का खुलासा साल 2020 में किया गया था लेकिन उस समय यह कम फेमस हुई थी।

कंपनी ने इसे पॉजिटिव कदम क्यों माना चलिए समझते है 
जैसा की आपको पता है की कंपनी की वेबसाइट निक्की एशिया के मुताबिक इससे कर्मचारियों में पॉजिटिव माहौल रहेगा और ज्यादातर लोग स्माइल करने में हिचकिचाते हैं। जब उन्हें ऑफिस में मुस्कुराने की आदत हो जाएगी तो ऐसा नहीं होगा जबकि इससे लोगों में प्राइवेसी को लेकर भी खतरा बढ़ेगा लेकिन इससे इंटरनेशनल मार्केट में कंपनी की बुरी छवि बन सकती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ