ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है। Operating system in hindi?

Hallo, दोस्तों अगर आपके मन मे ये सवाल उठ रहा है कि Operating system क्या है, तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं क्योंकि आजके इस आर्टिकल मे हम आपको operating system की पूरी jankari देंगे। सामग्री को समझने के लिये हमने इस आर्टिकल को निम्न भागो में बांटा है।

जैसे की...
  1. Operating system क्या है।
  2. प्रमुख operating system के नाम।
  3. Operating system के कार्य।
  4. Operating system की विशेषताएं।
  5. Operating system के विभिन्न प्रकार।
  6. Conclusion
चलिए इन 6 lesson को हम एक एक करके विस्तार रूप से समझते है

1.ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है? what is operating system in hindi:

Operating system kya hai / operating system in hindi
Operating system in hindi


Operating system को शॉर्ट भाषा मे OS के नाम सेे भी जाना जाता है। ये एक तरह से सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो user और computer hardware के बीच में interface जैसा कार्य करता है।

यह हमारे निर्दोशो को कंप्यूटर को समझाता है। क्योंकि operating system के बिना कंप्यूटर एक निर्जीव वस्तु होता है इसलिए एक प्रकार से आप इसे कंप्यूटर का दिल भी कह सकते हैं।
जिसका सीधा सीधा मतलब है कि जब भी आप कोई कंप्यूटर, लैपटॉप या कोई अन्य डिवाइस चलाते हो तब ये operating system ही आपको कंप्यूटर या कोई अन्य डिवाइस इस्तेमाल करने का सुविधा देता है।

Example:
जैसे आप ऑनलाइन फ़िल्म देखते हो, कोई ऑनलाइन फॉर्म भरते हो, तीन चार टैब एक साथ खोलना या कोई file कंप्यूटर या किसी अन्य डिवाइस में save करना आदि। ये सारे काम आप बिना Operating system के नहीं कर सकते।

जिसका मतलब है कि OS यानी की operating system एक ऐसा software है जिसकी मदद से आप अपने कंप्यूटर या किसी अन्य डिवाइस को चलाते हो। इसीलिए जब भी आप कोई नया कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदते हो तो उसमें सबसे पहले आप windows 7,8 या फिर windows 10 को लोड करवाते हो वरना बिना operating system के तो कंप्यूटर, लैपटॉप को use करना तो छोड़ो उसे on भी नही कर सकते हो इसलिए एक प्रकार से आप इसे system software भी बोल सकते है। तो ये है operating system चलिए इसके प्रमुख नाम के बारे में जान लेते है।

2.प्रमुख operating system के नाम।


अलग अलग काम के लिए अलग अलग operating system का इस्तेमाल किया जाता है  जिसका नाम हमने नीचे list में शेयर किया हुआ है जो अक्सर ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते हैं।

1. Windows OS
2. Android OS
3. Linux OS
4. Symbian OS
5. Mac OS
6. Apple iOS

ये सारे बहुत बड़े बड़े operating system  कंपनियों के नाम है वैसे तो इनके अंदर भी बहुत सारे नाम आते है लेकिन अक्सर ज्यादातर लोग इनको इन्हीं नाम से जानते हैं। चलिए operating system के कुछ कार्य के बारे जान लेते हैं।

3. Operating system के जरूरी कार्य।


Operating system पूरे कंप्यूटर को control और संचालन  करता है इसलिए कंप्यूटर को इस्तेमाल करने के लिए operating system का होना बहुत जरूरी है क्योंकि सुरुआत में ही जब आप  कंप्यूटर को on करते हो तब सबसे पहले ये आपके main Memory यानी की Ram में लोड होता है। फिर उसके बाद ये user software को कौन कौन से hardware चाहिए वो सारी चीजें allocate करता है।

Operating system के कुछ प्रमुख कार्य


operating system अलग अलग तरह से कार्य करता है जिनकी जानकारी आपको पता होना बहुत जरूरी है। नीचे operating system के कुछ प्रमुख कार्य available है।

Operating system kya hai
Operating system kya hai

  1. Device management
  2. File management
  3. Memory management
  4. Hardware management
  5. Processor management
  6. Security
  7. User ko interface provide करना
  8. System performance देखना
  9. Errors बताना

ये है operating system के कुछ important कार्य के नाम जो की आपके कंप्यूटर में different_different तरीकों से work करता है चलिए एक एक करके और बेहतर तरीके से समझ लेते है।

1.Device, management


हर कंप्यूटर या लैपटॉप में Driver का इस्तेमाल होता है जैसे कि WiFi driver, bluetooth driver, Sound driver आदि। लेकिन ये सभी अलग अलग input/output Device को चलाने में मदद करता है। पर इन Drivers को operating system ही चलाता है। तो आगे देखते है कि device management के लिए और क्या क्या करता है operating system.


  • Device allocate का काम operating system करता है example के लिए एक प्रक्रिया के लिये कुछ कार्य करने है जैसे print निकलना, video play करना ये दोनों कार्य  output monitor device printer की मदद से होगा, तो ये device को प्रक्रिया को कब देना है ये कार्य operating system करता है।
  •  जब प्रक्रिया का काम खत्म हो जाता है तो operating system ही वापस device deallocate करता है।

2. File management


Operating system के file management मॉड्यूल विभिन्न storage devices के साथ फ़ाइलों को transfer करता है जिसके अंदर operating system एक अहम भूमिका निभाती है जो आप आगे read करके समझ सकते है।

  • Operating system पता लगाता है कि कौन सा data कहा store है
  • इसके साथ ही resources को भी खोजने में मदद करता है
  • resource को De-allocate करता है 
  • इन सब सुविधाओं को आप file system भी बोल सकते है।

3. Memory management


memory management एक प्रमुख कार्य है जिसका मतलब है कि primary और secondary memory को प्रबंधन करना, मतलब की जब भी हम किसी software या program को execute करते है तो ये सबसे पहले Raim यानी की main memory में load होता है।

चूंकि अगर हम एक समय मे कई program को executed करते है, तो उन सभी को memory की जरूरत होती है, जो कि operating system द्वारा main memory को प्रबंधन किया जाता है। नीचे कुछ कार्य available है जो operating system द्वारा किया जाता है।


  • main memory का ध्यान रखता है कि कौन सा हिस्सा किस प्रक्रिया के उपयोग में है और कौन सा नहीं।
  • जब प्रक्रिया memory मांगती है तब उसको memory operating system देता है प्रक्रिया का मतलब है एक छोटा सा कार्य जो कि कंप्यूटर के अंदर होता है
  • जब प्रक्रिया का कार्य खत्म हो जाता है तब operating system वापस अपनी memory ले लेता है।

4. Hardware management


Hardware device एक अलग तरह से कार्य करता है, लेकिन operating system संबंधित drivers की मदद से device संचार को प्रबंधन करता है। प्रत्येक hardware device के लिए एक अलग devices driver होता है ये driver बाकी software और hardware के बीच कार्य को सफल बनाता है, जिनमें से नीचे कुछ कार्य के बारे में लिखा हुआ है।


  • System से जुड़े सभी hardware device को operating system द्वारा track रखा जाता है।
  • Operating system तय करता है कि कौन सा process एक device को access करेगी और कितने समय के लिये।
  • इसके साथ ही operating system प्रभावी और कुशल तरीके से hardware device को आवंटित करता है।

5. Processor management


आपको पता ही होगा कि CPU एक समय में एक ही process को execute कर सकता है लेकिन हम अपने कंप्यूटर में विभिन्न program को एक साथ run कर पाते है, ऐसा इसलिए क्योंकि बात की जाए multi programming environment की तो operating system  ही तय करता है किस प्रक्रिया को processor मिलेगा, और किसको नहीं।

Operating system के इस function को process scheduling बोला जाता है जो ये सारे कार्य करवाता है।


  • इसके अलावा operating system, प्रक्रिया और प्रोसेसर की स्थिति पर नजर रखता है कि प्रक्रिया अपना कार्य कर रहा है या free है प्रोसेसर अपना कार्य खत्म किया या नहीं
  • जब process का कार्य पूरा हो जाता है तो प्रोसेसर CPU को De-allocate कर देता है 
  • इन programs को traffic controller भी कहा जाता है।

6. Security


जब भी आप कंप्यूटर को on करते हो तो सबसे पहले उसमें password दर्ज करना होता है जिसका मतलब ये होता है कि operating system आपके सिस्टम को अपुष्ट access से रोकता है, इससे आपका कंप्यूटर और उसका data, save रहता है।

7. User ko interface provide करना


आप जब अपने कंप्यूटर का इस्तेमाल कर करते हो तो उसमें operating system एक interface के रूप में कार्य करता है यह एक GUI यानी कि Graphical user interface हो सकता है जिसमें user, operating system के साथ conversation करने के लिये on-screen elements पर क्लिक करता है इसके अलावा यह CUI यानी कि command-line interface हो सकता है जिसमें हम कार्य को करने के लिए operating system को आदेश देते है।

8. System performance देखना


Operating system हमारे कंप्यूटर के performance पर नजर रखता है साथ ही system को improve करता है और हमे CPU की status भी बताता है इसके अलावा operating system एक सर्विस  देने में कितना टाइम लगाता है ये रिकॉर्ड करके रखता है।

9. Errors बताना


System की खराबी की वजह से बता रहे Errors को operating system लगातार detect करता है, और साथ ही recover करता है।

4. Operating system की विशेषताएं


  1. कंप्यूटर से जुड़े सभी devices को का प्रबंधन करता है
  2. Processor का ध्यान रखता है, यानी कि प्रबंधन करता है
  3. Password तथा अन्य technologies के जरिए से सुरक्षा प्रदान करता है
  4. Errors और खतरों से अवगत कराता है
  5. मुख्य memory को track करता है
  6. User और कंप्यूटर प्रोग्राम के बीच अच्छा तालमेल स्थापित करता है

5. Operating system के विभिन्न प्रकार


जैसा की आप जानते है, कि तेजी से technologies आगे बढ़ती चली जा रही है, ठीक वैसे ही operating system भी अपने आप को developed करते हुए आगे बढ़ रहे है, operating system को कई अलग अलग categories में बांटा गया है परंतु यहाँ पर हम operating system के कुछ प्रमुख प्रकारों के बारे में जानेंगे।

  1. Single-user operating system
  2. Multitasking operating system
  3. Multi threading operating system
  4. Multi-user operating system
  5. Multi processing operating system
  6. Real time operating system

Single-user operating system


Single-user operating system एक समय मे सिर्फ एक ही user को कार्य करने देता है, इस operating system में कई users एक साथ कार्य नही कर सकते है

Multitasking operating system


Multitasking operating system, एक साथ user को कई अलग अलग program को चलाने की सुविधा प्रदान करता है, इस operating system पर आप अपने दोस्तों से chat करना और Email लिखने जैसे कार्य बड़े ही आसानी से कर सकते हैं।

Multi threading operating system


Multi threading operating system एक प्रोग्राम के different भागो को एक साथ चलाने की सुविधा प्रदान करता है।

Multi-user operating system


Multi-user operating system एक से ज्यादा users को एक साथ कार्य करने की सुविधा देता है, इस operating system पर एक साथ और एक ही समय मे हजारों, लाखों Users अपना अपना कार्य कर सकते है।

Multi processing operating system


Multi processing operating system एक प्रोग्राम को एक से ज्यादा CPU पर चलाने की सुविधा प्रदान करता है।

Real time operating system


Real time operating system यूज़र्स द्वारा दिए गए input पर तुरंत process करता है, Windows Operating system इसका सबसे best Examples है।

Operating system  कंप्यूटर के बहुत ही जरूरी प्रक्रिया है, इसके बिना कंप्यूटर एक खिलौने की जैसा है, यह कहना गलत नहीं है, क्योंकि बिना operating system के कंप्यूटर का इस्तेमाल करना बहुत ही कठिन कार्य साबित हो सकता है।

6. Conclusion


तो दोस्तो इस आर्टिकल के माध्यम से हमने जाना कि operating system क्या है, और ये कंप्यूटर के लिये क्यों महत्वपूर्ण है। आशा करता हूँ दोस्तो आप अच्छे से समझ गए होंंगे कि operating system क्या है, और ये कौन कौन से कार्य करता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां